बिग बॉस 12 के कल के एपिसोड में नॉमिनेशन से बचने के लिए घरवालों की दोस्ती की परीक्षा ली गयी। अब घर के सदस्य गेम को काफी शमझ्दारी के साथ खेल रहे है। जैसा की शुरुवात में हर रोज कोई न कोई हंगामा होता रहा लेकिन जैसे-जैसे फिनाले पास आ रहा है घरवाले अपने गेम को और बेहतर तरीके से खेल रहे हैं।

अब आपको घर में देखने को मिलेगा की काफी लोगो के बीच गहरी दोस्ती हो चुकी है। जहां पहले घरवाले दुश्मनी निभाने के लिए किसी भी हद तक चले जाते थे, वहीं अब सभी दोस्ती के लिए कुर्बानियां दे रहे हैं। परिवारवालों से मिलकर इमोशनल हुए घरवालों के लिए कल का दिन कठिन रहा क्यूंकि उन सभी की दोस्ती की परीक्षा ली गयी। कल का एपिसोड दीपका के पति से ही शुरू होता है। दोनों कुछ इमोशनल वक्त बिताते हैं। शोएब दीपिका को अपनी जैकेट देकर चले जाते हैं।

उनके जाने के बाद दीपिका दुखी होतीं है तोह श्रीसंत उन्हें तस्सली देतें है। वही दुरसी और सोमी के साथ रिश्ते को लेकर बाहर बनी अपनी इमेज के लिए रोमिल अब भी परेशान हैं। दीपक रोमिल को समझते हैं की उन्हें चिंता नहीं करनी चाहिए कि बाहर लोग क्या सोच रहे हैं।

इसके बाद बिग बॉस नॉमिनेशन की प्रक्रिया का ऐलान करते हैं जिसे करणवीर पढ़ते हैं। कल के नॉमिनेशन टास्क में बिग बॉस घरवालों को कुछ कुर्बानियां देने के लिए कहतें हैं। घरवालों को एक दूसरे को नॉमिनेशन से बचाने के लिए बिग बॉस द्वारा गई चीजों की क़ुरबानी करनी होगी। इस टास्क के लिए घर में गुफा बनायीं गयी है जिसमें एक चिराग है। चिराग घिसने पर जिन्न की आवाज आएगी और जिन्न ही घरवालों से कुर्बानियां मांगेगा।

सबसे पहले दीपक को गुफा में बुलाया जाता है। करणवीर को दीपक को बचाने के लिए अपनी बेटी का दिया हुआ खिलौना नष्ट करना है। करणवीर काफी इमोशनल हो जाते है लेकिन फिर भी दीपक के लिए वह खिलौना नष्ट कर देते हैं। सभी घरवाले उन्हें समझाते हैं कि वे सब मिलकर उनकी बेटी को नया खिलौना देंगे।

अगली बारी सोमी की आती है जिन्हे बचाने के लिए रोहित को खुद को पुरे सीजन के लिए नॉमिनेट करने को कहा जाता है। रोहित मना कर देते हैं और सोमी नॉमिनेट हो जाती हैं। फिर रोहित को बचाने के लिए दीपक को अपने परिवार का फोटो नष्ट करने के लिए कहा जाता है। दीपक मना कर देते हैं और रोहित भी नॉमिनेट हो जाते हैं।

लास्ट में करणवीर को बचाने के लिए जिन्न दीपिका को शोएब की दी हुई जैकेट मांगते हैं लेकिन वह मना करते हुए कहतीं है की कई बार करण ने भी उनका साथ नहीं दिया। अगर यह श्रीसंत के लिए होता तो वह ऐसा कर सकती थीं।

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help