Asia Cup 2018 का खिताबी मुकाबला आज भारत और बांग्लादेश के बीच होगा जो की दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में शाम 5 बजे से खेला जायेगा। क्रिकेट फैंस को उम्मीद थी की सुपर 4 में पाकिस्तान बांग्लादेश को हरा देगी और एक बार फिर फाइनल मैच में उन्हें इंडिया और पाकिस्तान के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिलेगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं और बांग्लादेश ने पाकिस्तान की उमीदो पर पानी फेरते हुए उन्हें 37 रनो से हरा दिआ।

अगर हम परफॉरमेंस और फॉर्म की बात करें तोह इंडिया का पड़ला भारी है लेकिन बांग्लादेश चार जीत के बाद बहुत कॉंफिडेंट है और भारत को इस बात से सावधान रहना होगा। हलाकि बांग्लादेश एक कमजोर प्रतिद्वंदी के रूप में नजर आ रही है लेकिन भारतीय टीम को यह बात याद रखनी होगी की यह वही टीम है जिसने उन्हें 2007 वर्ल्ड कप में हरा दिआ था। रोहित शर्मा की टीम कोई भी चांस नहीं लेना चाहेगी क्योंकि अगर भारत यह मुकाबला जीत जाता है तोह यह Asia Cup में उसकी 7वीं जीत हो गई जो की अपने आप में ही एक रिकॉर्ड है।

अगर परफॉरमेंस की बात की जाये तोह बांग्लादेश लगातार 4 जीतो के साथ बेहतरीन फॉर्म में है और यह भारत के लिए चिंता का विषय हो सकता है। बांग्लादेश ने जिस प्रकार पकिस्तान के विरूद्ध 37 रानो से जीत हासिल की उससे उनकी क्षमता का पता चलता है। टीम ने यह जीत अपने प्रमुख खिलाडियों-शाकिब अल हसन और तमीम इक़बाल के बिना ही हासिल की है।

टीम में रुबेल होसैन को लाना बहुत ही फायदे का फैसला साबित हुआ। हुसैन ने अपनी सटीक गेंदबाजी से पाकिस्तान को खासा नुक्सान कराया। उन्होंने अपनी 8 ओवर की पारी में 4.5 की इकॉनमी से रन देते हुए शोएब मालिक का विकेट चटकाया जो की पाकिस्तान के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण विकेट था। मालिक का कैच लेते हुए कप्तान मशरफे मोर्तज़ा घायल हो गए जो की बांग्लादेश के लिए अछि खबर नहीं है। टीम पहले ही चोटिल खिलाडियों की वजह से कमजोर है, ऐसे में मोर्तज़ा का टीम में होना आज के मैच के लिए बहुत जरूरी है।

आज के खेल के लिए टीम में किसी भी बदलाव की उम्मीद नहीं है।

भारत एक मजबूत टीम है लेकिन सुपर 4 में अफ़ग़ानिस्तान के खिलाफ भारत की परफॉरमेंस अच्छी नहीं रही। अफ़ग़ानिस्तान के गेंदबाजों ने भारतीय बैट्समेन को खासा परेशां किया। KL Rahul और अम्बाती रायुडू की शानदार ओपनिंग पार्टनरशिप के बाद भी मिडिल आर्डर भारत को विजय दिलाने में असमर्थ रहा। धोनी अपनी पारी को आज और बेहतर बनाने की कोशिश करेंगे क्योंकि एशिया कप में इस बार उनकी परफॉरमेंस सही नहीं रही है।

भारत पांच दिगजो-रोहित शर्मा, शिखर धवन, भुवेनश्वर कुमार, जयप्रीत बुमराह और युजवेंद्र चहल को टीम में वापस लाएगा जिससे उसके जितने के आसार बहुत बढ़ जातें है।

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help