जन्माष्ठमी 2018-तिथि , शुभमुहूर्त और इस वर्ष की विशेषता

इस साल जन्माष्टमी मनाने के बारें में कड़ी चर्चा हो रही है। 2 सितंबर 2018 रविवार को रात 8 बजकर 48 मिनट पर अष्टमी की तिथि पड रही है और इसके 3 सितम्बर 2018 सोमवार के रात 7 बजकर 19 मिनट तक होने की सम्भावना है। इस वजह से पूजा और व्रत रखने की मामले में लोगों में अनेक चर्चाएं हो रही है।

पंडितों के अनुसार जन्माष्टमी का व्रत अष्टमी तिथि के रात को रखना चाहिए और उस समय रोहिणी नक्षत्र भी रहना चाहिए। जन्माष्टमी पर श्री कृष्ण जी का जन्म भाद्रपद माह पर अष्टमी के मध्यरात्रि पर रोहिणी नक्षत्र में हुआ है, इसीलिए आपको व्रत अष्टमी तिथि को रखना चाहिए। पंडितों ने कहा की इस वर्ष सितम्बर 2 2018 पर रोहिणी नक्षत्र और अष्टमी तिंथि का संयोग हो रहा हैं और उस दिन व्रत रखने और पूजा करने के लिए महत्वपूर्ण है। लेकिन कुछ पंडितो के अनुसार जन्मकाल तिथि और रोहिणी नक्षत्र के संयोग के कारण, सोमवार को व्रत रखना शुभ होगा।

जन्माष्टमी के शुभ मुहूर्त

इस साल अष्टमी तिथि 2 सितम्बर 2018 रविवार के रात को 8 बजकर 46 मिनट पर शुरू हो रही है और रोहिणी नक्षत्र रात 8 बजकर 48 मिनट पर पड रहा है। इस योग के कारन इस साल जन्माष्टमी का शुभ महूरत 2 सितम्बर 2018 रात 8. 48 से 3 सितंबर 2018 रात 7. 19 तक बताया जा रहा है।

धर्म शाश्त्र के अनुसार भगवान विष्णु ने भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष के अष्टमी पर रोहिणी नक्षत्र में श्री कृष्ण जी के रूप में प्रगट हुए थे। इस अवसर पर जन्माष्टमी मनायी जाती है। ब्राह्मणों और अन्य संप्रदायो को मानने वाले रविवार को जन्माष्टमी मनाए गए वही वैष्णव संप्रदाय के पंडितों ने सोमवार को जन्माष्टमी मनाने का निश्चय किया है।

कुछ पंडितों के अनुसार इस जन्माष्टमी में अनेक दुर्लभ संयोग हुए हैं और यह एक महत्वपूर्ण अवसर है।

धार्मिक गणना के अनुसार 2 सितम्बर रविवार के मध्यरात्रि पर रवि सिम्ह् के राशि में प्रवेश कर रहे हैं और यह एक दुर्लभ योग है। इस समय चन्द्रमा वृष लग्न पर लगन हैं। इस समय पर जन्म लेनेवाले बहुत भाग्यशाली बनेंगे। जन्माष्टमी देश के कोने कोने में बड़ी धूम धाम से मनाई जाती है और इस वर्ष भी जन्माष्टमी उत्सव बड़े उत्साह से मानाने की तैयारियां हो रही है। हर वैष्णव मंदिर में जन्माष्टमी की विशेष उत्सव और पूजा मनाई जाती है।

आप सभी को जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ!

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help