राज कपूर का Famous RK Studio बिकने जा रहा है, जानिए क्या है इसकी वजह

आर के स्टूडियो, एक समय पे बॉलीवुड का सबसे बड़ा प्रोडक्शन स्टूडियो, बेचा जा रहा है। बेचने की जानकारी खुद ऋषि कपूर ने दी है,उनके बड़े भाई रणधीर कपूर भी बेचने का समर्थन कर रहे है,जैसे ही आरके स्टूडियो बेचे जाने की बात सामने आई,जयप्रकाश चौकसे ने कहा कि यह निर्णय लेना परिवार के लिए आसान नहीं रहा होगा।

70 साल पूराना स्टूडियो है उसमे उच्च तकनीक भी है,1949 में खरीदा था जमीन का टुकड़ा और फिर पीछे मुड़ कर नहीं देखा। 1954 में जब श्रीकांत स्टुडियो बिक रहा था तब उसे खरीद लिया था।

बरसात फिल्म के हिट होने के बाद राजकपूर साहब ने 1949 में इस स्टूडियो को खरीदा था

उनकी पहली फिल्म आवारा कि ड्रीम शूटिंग आर के स्टूडियो में हुई थी। पूरी फिल्म की शूटिंग रात में होती थी। तब तक स्टूडियो में दिवारें बनी थीं लेकिन छत नहीं बनी थीं। फिल्म रिलीज 1951 में हुई थी।

मनोज कुमार भी अपनी फिल्म की शूटिंग आर के स्टूडियो किया है

फिर एक के बाद एक अपनी कई फिल्मों की शूटिंग राजकपूर ने स्टूडियो में की यही नहीं दूसरे प्रोड्यूसर और डायरेक्टर भी इस स्टूडियो में शूटिंग करते रहे हैं। मैंने अपनी तीन फिल्मों की शूटिंग इसी स्टूडियो में की है। चौकसे बताते हैं कि सिर्फ राजकपूर के परिवार की यादें ही नहीं इस स्टूडियो से फिल्म उद्योग के कइयों की यादें जुड़ी हैं।

कई फिल्मों का गवाह है आर के स्टूडियो। किसी भी सामान को बेचना बहुत ही मुश्किल काम होता है! उन्होंने कहा कि पूरे परिवार के लिए यह निश्चय करना बहुत ही कठिन कार्य रहा होगा। पूरा परिवार वहां से ही आगे बढ़ा है, चाहें राजकपूर हों या ऋषि कपूर या फिर रणधीर और राजीव कपूर सभी की वहां से कई-कई यादें आर के स्टूडियो जुड़ी हुईं हैं। ऋषि की मेरा नाम जोकर, रणधीर की कल आज और कल, राजकपूर की राम तेरी गंगा मैली की पूरी शूटिंग आर के स्टूडियो हुई है। शाहरुख की फिल्म ओम शांति ओम, हिना, रूप की रानी चोरों का राजा, प्रेम ग्रंथ सहित कई फिल्मों की यादों में रह जाएगा आर के स्टूडियो।

आर के स्टूडियो दिवाली होली और गणपति के लिए पॉपुलर है

चौकसे बताते है स्टूडियो की दिवाली, होली और गणपति पूरे बॉलीवुड में पॉपुलर थी। राजकपूर के निधन के बाद बच्चों ने दिवाली होली तो बंद कर दी लेकिन गणपति आज भी धूमधाम से मनाया जाता है। अगर पूरा आर के स्टूडियो बेचा जा रहा है तो अब वहां गणपति भी नहीं बैठाए जाएंगे। चौकसे बातचीत के दौरान बताते हैं कि उस समय का आधुनिकतम स्टूडियो था!
एक्ट्रेस करीना कपूर ने कहा

स्वर्गीय दादा राज कपूर की बहुत सी यादें आज भी आरके स्टूडियो में जिंदा है। परिवार के लिए दादा जी की आखिरी निशानी को बेचना मुश्किल काम है आज भी स्टूडियो के आंगन में हमारे दादा और हमारे परिवार के बच्चों की यादें बसी हैं।जिसकी वजह से परिवार ने ये कठोर फैसला लिया है तो, अब यह मेरे पिता और उनके भाइयों पर है। अगर उन्होंने यही तय किया है तो यही सही।” 70 साल पुराने दो एकड़ में फैले आरके स्टूडियो को बेचने का फैसला कपूर परिवार के लिए भी कठिन रहा है। लेकिन, बीते साल आग लगने की घटना में स्टूडियो का एक हिस्सा तबाह हो गया और अब इसे फिर से बनाना आर्थिक रूप से सही नहीं माना जा रहा है।

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help