PV Sindhu ने रचा इतिहास -एशियाई गेम्स Badminton फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला

एशियाई गमेस 2018 में भारत का पर्दर्शन काफी रोमांचक रहा है, लेकिन पी वि सिंधु ने इस बार भारत के लिए एक नई उम्मीद जगाई है।

बैडमिंटन टूर्नामेंट में भारत ने एशियाई गेम्स में अभी तक 8 ब्रोंज मैडल मिल चुके है लेकिन पहली बार सिंधु की बदौलत भारत को गोल्ड मैडल मिलने की उम्मीद है।

इसी के साथ सिंधु एशियाई गेम्स के बैडमिंटन फाइनल में पहुंचे वाली पहली भारतीय बन गयी है। सारे देश की आँखें सिंधु पर होंगी जब दो भारत के लिए गोल्ड पदक का सपना साकार करने की लिए लड़ेंगी।

सोमवार को 18वे एशियाई गेम्स में सिंधु ने जापान की अकाने यामागुची को सेमीफइनल मैच में 21-17, 15-21, 21-10 से हराया। फाइनल में पहुंचने के साथ ही उन्होंने इतिहास रच दिया है, फाइनल मैच में उनका मुकाबला दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी ताई जू यिंग से होगा।

PV Sindhu After Winning Asian Games Semifinal Against World No 2.

साइना का पहला ब्रोंज मैडल

इससे पहले ताइवान खिलाडी ताई जू यिंग ने सेमीफइनल में साइना नेहवाल को 21-17, 21-14 से हराया। यु तोह साइना अवल दर्जे की खिलाड़ी है लेकिन इस हार के साथ उन्हें ब्रोंज से ही संतोष करना होगा। साइना के लिए एशियाई गेम्स सिंगल्स टूर्नामेंट में यह पहला ब्रोंज है। ताइवान खिलाडी और नेहवाल के बिच यह 16वा मुकाबला था। ताई जू यिंग के लिए भारतीय खिलाडी के खिलाफ यह 11वीं जीत दर्ज की है।

भारत के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर

देश ने अपना पहला बैडमिंटन मैडल एशियाई गेम्स 2014 में जीता था, जब महिला टीम ने भारत के लिए ब्रोंज जीता था। उस समय टीम में साइना नेहवाल, पीवी सिंधु, अश्वनी पोनाप्पा, सिक्की रेड्डी, प्रधन्या गदरे, तनवी लाड, पीसी तुलसी थीं। भारत ने अभी तक 8 पदक हासिल किये है जो की सभी ब्रोंज है।

गोल्ड मैडल के लिए पी वी सिंधु और ताई जू यिंग के बीच मुकाबला मंगलवार को होगा।

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help